देश

पाकिस्तान से मोस्ट फेवोर्ड नेशन का दर्जा छीना

कुछ महीनों पहले जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले को आतंक मुक्त घोषित किया गया था। । लेकिन कल सुबह सेना के काफिले पर आतंकवादी हमले ने पूरे देश नई नींद हराम कर दी है । हमले में देश के 43 वीर योद्धा शहीद हो गए जिस से पूरा देश सकते में आ गए और पूरे देश मे आक्रोश का माहौल है । शाहिद हुए जवानों में से अब तक 36 जवानों के शवों की पहचान की जा चुकी है ।

गृह मंत्री ने शहीदों को कंधा दिया

शहीदों के शवो को दिल्ली लाया जाना अभी बाकी है। अमर शहीदों को गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने श्रधांजलि दी और शहीदों को कंधा भी दिया साथ ही साथ हमारे जवान अमर रहे के नारे भी लगाए।

पाकिस्तान से भारतीय उच्चायुक्त को वापस बुलाया।

पाकिस्तान में मौजूद भारतीय उच्चायुक्त आज बिसारिया को भारत वापस बुला लिया गया है । अजय बिसारिया को एक मीटिंग के लिए दिल्ली बुलाया गया है ।

ज्यादा नुकसान के लिये CRPF पर हमला

इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैस-ए-मुहम्मद ने लिया है जिसका मास्टरमाइंड मसूद अज़हर है । सूत्रों के मुताबिक इस हमले की प्लानिंग 6 महीने पहले किया जा चुका था। आतंकियों ने ज्यादा नुकसान पहुचाने के लोए आर्मी की बजाए CRPF के काफिले को चुना क्योंकि CRPF काफिले के ज्यादा जवान होते है।

विपक्ष सरकार के साथ खड़ा है

इस आतंकी हमले के बाद भी कांग्रेस का चहेता प्रवक्ता और हाल ही में हुए उपचुनाव अपनी सीट गवाने वाला रणदीप सुरजेवाला अपनी राजीनतिक रोटी सेकना नही भुला ओर सरकार को भला बुरा कहा जिसको कवर करने के लिए राहुल गांधी ने कहा हम इस मुश्किल खड़ी में सरकार और शहीदों के परिवारों के साथ खड़े है।

पूरी दुनिया है भारत के साथ।

पुलवामा में हुए हमले के एक घंटे के अंदर पूरी दुनिया एक सुर में भारत के साथ आ गयी । यूएस स्टेट डिपार्टमेंट ने इस आतंकी हमले का विरोद्ध किया है साथ ही साथ ये सभी देशों की जिम्मेदारी है कि आतंकवादियों के लिए सेफ हैवन न बने और आंतकवादियों को समर्थन देना बंद करे । यूएस हॉउस के फॉरेन अफेयर्स कमिटी के चेयरमैन एलियोट एंजेल ने कहा है किसी भी देश को जैश-ए-मुहम्मद जैसे आतंकी संगठन को पनाह नही देनी चाहिए।


यूएई के विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी करते हुए कहा है ” इस कठिन परिस्थिति में हम भारत और भारत की जनता है साथ है और आतंकवाद से लड़ने में भारत के साथ रहेंगे।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम कुरेशी ने श्रधांजलि देते हुए कहा ” एक देश के तौर पर हम सालो से आतंकवाद और आतंकी हमलों के गवाह रहे है और इसकी जड़ें खत्म करने का यथा संभव प्रयास किये है । हमारा मानना है कि इस तरह की खूनी साजिस अमानवीय है और जो भी संगठन इस तरीके को इख्तियार कर रहे है चाहे किसी भी उद्देश्य से हो वह अस्वीकार है।”

ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री payne ने ट्वीट किया और कहा “शहीद और घायल हुए जवानों , उनके परिवारों और भारत की जनता के लिए गहरी संवेदना प्रकट करते है । हम आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ खड़े है ।”

20 साल में सबसे बड़ा हमला है पुलवामा मर हुआ आतंकवादी हमला ।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि हमले के जिम्मेदार लोगों को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। पुतिन ने कहा भविष्य के लिए हम तैयार है और आतंकवाद को जड़ से खत्म करने में भारत के साथ मजबूती से खड़े है।

यूएन सेक्रेटरी जनरल के प्रवक्ता ने कहा है “जो भी इस हमले के साजिश कर्ता है उन्हें सजा मिलनी ही चाहिए।

भारत के पड़ोसी देश नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका, भूटान,अफगानिस्तान और मालदीव ने इस हमलेक कड़ा विरोध किया है।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ने सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फ़ोन किया वही दूसरी तरफ मालदीव के विदेश मंत्री ने शुष्मा स्वराज से बात की।

पाकिस्तान का U टर्न

हहर बार की तरह इस बार भी पाकिस्तान ने अपना हाथ होने से इनकार करते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया है । पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हम इसका कड़ा विरोध करते है कि भारत सरकार और भारतीय मीडिया बिना किसी जांच के इस हमले का लिंक पाकिस्तान से जोड़ रही है । पाकिस्तान ने इसके लीए 15 मिनट में 2 प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी ।

भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से चीन का बिना नाम लिए अपील की है की मसूद अज़हर और उसके संगठन जैस-ए-मुहम्मद को यूनाइटेड नेशंस सेक्युरिटी कॉउंसिल के सेक्शन 1267 के तहत बैन किया जाना चाहिए।

योग गुरु बाबा रामदेव ने अपना गुस्सा ज़ाहित करते हुए कहा है लश्कर ए तैयबा चीफ हाफिज सईद और मसूद अज़हर का भी वही हश्र करना होगा जो यूएसए ने लादेन के साथ किया।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *