देश

सिद्धू- आतंकवाद का न कोई मजहब, न कोई जात, न कोई देश

चंडीगढ़ में नवजोत सिंह सिद्धू से जब पत्रकारों ने पूछा कि पाकिस्तान की इस हरकत पर आपका क्या कहना है? तो नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जो घटना हुई है, वह कायरतापूर्ण है. उसकी वह निंदा करते हैं.

जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कड़ी निंदा की है. चंडीगढ़ में नवजोत सिंह सिद्धू से जब पत्रकारों ने पूछा कि पाकिस्तान की इस हरकत पर आपका क्या कहना है? तो नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जो घटना हुई है, वह कायरतापूर्ण है. उसकी वह निंदा करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवाद का कोई देश नहीं होता. आतंकियों का कोई मजहब नहीं होता. उनकी कोई जात नहीं होती. सिद्धू ने पुलवामा आतंकी हमले को कायरतापूर्ण कार्यवाही करार दिया और इस घटना की निंदा की. उन्‍होंने कहा कि जो भी लोग इस आतंकी हमले के लिए जिम्मेदार हैं, उन पर कार्यवाही होनी चाहिए.

हालांकि इस हमले की वजह से करतारपुर कॉरिडोर के निर्माण और खुलने पर कोई असर पड़ सकता है के सवाल को सिद्धू टाल गए. सिद्धू बोले कि क्या इससे ज्यादा कुछ बोलना जरूरी है? गौरतलब है कि गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 37 जवान शहीद हो गए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी कार से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी. ये साल 2016 में हुए उरी हमले के बाद सबसे भीषण आतंकवादी हमला है.

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *