देश

पुलवामा अटैक पर AMU छात्रों का दोगलापन

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने एक अंडरग्रेजुएट छात्र को इसलिए ससपेंड करना पड़ा क्युकी वह पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए जवानो की शहादत का मजाक बना रहा था सोशल मीडिया में माध्यम से।
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में प्रवक्ता ओमर पीरज़ादा ने पीटीआई से बात करते हुए कहा है की उस छात्र के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी । इस तरह के किसी भी कदम को बढ़ने और पनपने नहीं दिया जाएगा इसके खिलाफ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में जीरो टॉलरेंस पॉलिसी है ।
गुरुवार को भी सोशल मीडिया पर बहुत सरे मुस्लिम युवको को जवानो की शहादत का मजाक बनाते हुए पाया गया था , गौरतलब है भारत के मुस्लिमो का हमेशा से कहना है की हमारी देशभक्ति पर संदेह न किया जाये जब इस तरह की तमाम हरकते ए दिन देखने की मिलती है , ये सिर्फ भारत का मुस्लिम समुदाय है जिसका इस्लाम देश की कदर करने या फिर तिरंगा फहराने या फिर वने मातरम गाने और भारत माता की जय कहने से खतरे में आ जाता है ।
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के उस छात्र पर FIR कर लिया गया है,बसीम नाम का यह छात्र गणित में स्नातक कर रहा है ।

How's the jaish, said the student allegedly mocking the martyrs

अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने इसका विरोध किया

AMU-PRO condemns statement

ओमर पीरज़ादा ने कहा हमें यह समझना चाहिए की यह एक कड़ी निंदनीय हरकत है विश्वविद्यालय ने उस छात्र को तत्काल प्रभाव से निष्काषित कर दिया है । यह विश्वविद्यालय से असुलो से खिलाफ है , वह छात्र कश्मीर का रहने वाला है और यहाँ वह गणित की पढाई करता था ।

सुरक्षा बलों को खुली छूट

'Free hand given to forces':  PM Modi
पाकिस्तान को शुक्रवार को धमकी देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की पाकिस्तान और इस हमले के जिम्मेदारी को इसकी कड़ी कीमत चुकानी होगी ।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा की सुरक्षा बलों को हमने खुली छूट दे रखीहै ताकि इस तरह के कायरतापूर्ण हरकतों का मुहतोड़ जवाब दिया जा सके। उन्होंने कहा मई आतंकी संगठनो और उन्हें पनाह देने वालो को बता देना चाहता हु की उन्होंने बड़ी भूल कर दी है और उन्हें उनकी हरकतों की बहुत ही भारी कीमत चुकानी होगी । मै देश की जनता हु आसवस्त करता हु की इस हमले के पीछे जितने भी है उन्हें बख्सा नहीं जायेगा।
वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने कहा की पाकिस्तान को अलग थलग करने के लिए हर तरीके के हथकंडे अपनाये जायेंगे।
सूत्रो में मुताबिक फॉरेन सिक्योरिटी विजय गोखले ने भारत में मौजूद पाकिस्तान हाई कमिशनर सोहैल महमूद को कड़ा विरोध प्रकट किया है ।
इंडिया मीन्स बिज़नेस को क्लियर करते हुए कैबिनेट कमिटी ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का ख़िताब वापस ले लिया गया है इस से पाकिस्तान से आने वाले सामने के ऊपर कस्टम ड्यूटी को बहुत ही ज्यादा रखा जायेगा ।

इंडिया में पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा 1996 दिया गया था । प्रधानमंत्री ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा की देश के लोगो का खून खौल गया है और इसके पीछे जितने भी लोग है उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी ।
सुरक्षा बलों को पूरी तरह से खुली छूट दे रखी है, देश के लोगो का खून खौल रहा है और इस हमले के पीछे के लोगो को किसी भी कीमत पर बक्शा नहीं जायेगा। हमारे पडोसी देश जो अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में अलग थलग पड़ गया है सोचता है भारत को इस तरह के आतंकी हमलो से अस्थिर किया जा सकता है लेकिन उनके मनसूबे को कामयाब नहीं होने दिया जायेगा।

एक पब्लिक मीटिंग को सम्बोधित करते हुए मोदी ने पाकिस्तान का बिना नाम लिए कहा यह हमला उनकी माली हालत की दर्शाता है की अंतर्राष्ट्रीय तौर पर किस तरह से घुटनो पर आ गया है और कटोरा लेकर भीख मंगाते इधर से उधर फिर रहा है जिस से की उनका खर्चा चल जाये । मोदी ने आगे कहा की सुरक्षा बलों को निर्णय लेने की पूरी छूट दे रखी है की वह किस वक़्त , किस तरह और किस जगह कारवाही करते है। यह इंडिया की नयी पॉलिसी है । सीसीएस की मीटिंग के बाद अरुण जेटली ने कहा की हर उस तरीके को अपनाया जायेगा जिस से की इस हमले और इसकी साजिस करने वाले लोगो को घुटनो पर लाया जा सके।
अरुण जेटली ने कहा की पाकिस्तान को अलग थलग करने के लिए हर तरीके को इख़्तियार किया जायेगा ।
राहुल गाँधी ने कहा कांग्रेस के साथ साथ पूरा विपक्ष इसके खिलाफ सरकार और सुरक्षा बलों के साथ है ।
“यह में क्लियर कर देना चाहता हु की आतंकी इस देश को बाटना चाहते है लेकिन मै यह कह देता हु की कितनी भी कड़ी कोशिश कर लो हम एक सेकंड के लिए भी अलग नहीं होंगे ।

राजनाथ सिंह ने श्रीनगर में जवानो को कन्धा दिया । श्रीनगर में राज्यपाल सत्य पाल मलिक, होम सेक्रेटरी राजीव गौबा, CRPF डायरेक्टर R R भटनागर, जम्मू और कश्मीर DGP दिलबाग सिंह भी मौजूद रहे ।
राजनाथ सिंह ने कहा राष्ट्र के जवानो के सर्वोच्च बलिदान को भूलेगा नहीं ।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *