देश

दिग्विजय भारत पर आक्रमण करने वालो की संतान : साध्वी प्रज्ञा

समझौता ट्रैन विस्फोट केस में स्वामी असीमानंद समेत तीन अन्य को पंचकूला स्थित एक विशेष अदालत ने बुधवार को बरी कर दिया । कोर्ट के इस फैसले पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस और दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा । साध्वी प्रज्ञा ने कहा की देश के हिन्दुओ को फ़साने के लिए कांग्रेस ने एक बहुत बड़ा षड़यंत्र रचा था जो अब धीरे धीरे सामने आ रहा है । साध्वी ने कहा की कांग्रेस के द्वारा रचे गए षड़यंत्र का अब पर्दाफाश हो रहा है साथ ही उन्होंने दिग्विजय सिंह के हिन्दू होने पर भी सवाल उठाया । उन्होंने कहा ” ये तो होना ही था यह कांग्रेस का एक बहुत बड़ा षड़यंत्र था देश के विरुद्ध की भगवा आतंकवाद और हिन्दू आतंकवाद को सिद्ध करने के लिए उन्होंने देश विरोधी षड़यंत्र कर के इस प्रकार से यूएनओ में भारत को आतंकवादी देश घोसित करने का षड़यंत्र कर रही थी उसका भगवा आतंकवाद का षडयंत्र आज फिर से पर्दाफाश हुआ है और यह सिद्ध हुआ है की देश भक्त अपने ही देश में इस प्रकार से कोई गतिविधि नहीं करते और किसी भी प्रकार के आतंकवादी गतिविधि में शामिल नहीं होते , वो देशभक्त है देश के लिए जीना और मरना जानते है.”

यह पूछे जाने पर की इस मामले पर फैसला आने में काफी वक़्त लगा आप पर भी जो फैसला आया था वो भी काफी लम्बी चली थी इसपर साध्वी ने कहा ” हमारे खिलाफ कोई सबूत नहीं था कांग्रेस ने सबूत बनवाये है चूँकि ये सब षड़यंत्र करते है तो इनका प्रयाष रहता है की इनको लम्बे समय तक अंदर कर के रखा जाए क्युकी सत्य तो कुछ है नहीं चूँकि ये सब षड़यंत्र करते है तो इनका प्रयाष रहता है की कितने वर्षो तक इनको अंदर रख ले प्रक्रिया में धीरे धीरे ये लोग कुछ न कुछ डालते रहते है और अंत में यह सिद्ध होता है की हम निर्दोष है हमलोग देशभक्त है और देश के लिए सम्पूर्ण समर्पित है।” दिग्विजय सिंह के बारे में जब पूछा गया की दिग्विजय सिंह का बयान है और उन्होंने कहा है की मई सबसे बड़ा हिन्दू हु जब साध्वी ने कहा ” वो हिन्दू तो हो ही नहीं सकता हमारे देश में बहुत सारे आतंकवादी और बहुत सारे आक्रमण हुआ है उनका जो मिक्स खून हुआ है उनमे से निश्चित रूप से दिग्विजय उनकी पहली संतान हो सकता है क्योकि इस से बड़ा धूर्त और कांग्रेस की जो मेजोरिटी है उनको देश से मर मर कर भागना चाहिए” । जब यह पूछा गया की कहा भागना चाहिए तो साध्वी ने कहा “इस देश से हटा देना चाहिए जिस देश से इनको प्रेम है वह भेज देना चाहिए ।

साल 2007 में समझौता ट्रेन में हुए आतंकवादी विस्फोट में 68 लोगो की मौत हो गयी थी जिनमे से ज्यादातर पाकिस्तानी थे । राष्ट्रीय जाँच एजेंसी एनआईए के वकील राजन मल्होत्रा ने बताया की अदालत ने सभी चार आरोपियों राजकुमार सर्कार उर्फ़ स्वामी असीमानंद, लोकेश शर्मा , कमल चौहान और राजेंदर चौधरी को बरी कर दिया है । भारत पाकिस्तान के बिच चलने वाली ट्रेन समझौता एक्सप्रेस में हरयाणा के पानीपत के निकट 18 फरवरी 2007 को उस समय विस्फोट हुआ था जब ट्रेन अमृतसर स्थित स्त्री की ओर जा रही थी । फैसला सुनाने से पहले एनआईए के विशेष न्यायधीश जगदीश ने पाकिस्तान की एक महिला की एक याचिका को ख़ारिज कर दिया । जगदीश ने कहा की इस याचिका में कुछ विचारणीय मुद्दे नहीं है, उस याचिका में पाकिस्तानी महिला ने पाकिस्तान के कुछ गवाहों से पूछताछ की मांग की थी ।

कांग्रेस भारतीय राजनीती में एक मुस्लिम समर्थित पार्टी है जिसको मुस्लिमो का भरपूर समर्थन मिलता है जिसके बदले कांग्रेस भी तुस्टीकरण करती है मुस्लिमो का । समय समय पर इसका उदहारण भी देखने को मिलता है । जिस भी राज्य में कांग्रेस की सरकार रहती है वह अराजकता फैली होती है और वहा की भौगोलिक जनसँख्या भी बदल जाती है समय के साथ । कांग्रेस समय समय पर मुस्लिम तुस्टीकरण के लिए घिरती रही है । पिछले लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस के नेता मंदिरो में भी जाने लगे है जो लगभग हर चुनाव के पहले ये शिलशिला चालू करते है और चुनाव बाद यह शिलशिला ख़त्म हो जाता है । कांग्रेस पर देश के हिन्दुओ के ऊपर भगवा आतंकवाद थोपने के भी आरोप लगते रहे है । भगवा आतंकवाद शब्द की उत्पति भी कांग्रेस के द्वारा ही की गयी थी तथा साध्वी प्रज्ञा पर कांग्रेस राज में तरह तरह के अत्याचार किये गए थे । फ़िलहाल साध्वी बरी है ।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *