राजनीति

कांग्रेस नेता का विवादित बयान कहा ट्रीपल तलाक़ कानून को उखाड़ फेकेंगे ।

‌बीजेपी सरकार के द्वारा हाल मुस्लिम महिलाओं को ट्रीपल तलाक़ से आज़ादी दिलाने के लिए कानून पारित किया गया था मगर कांग्रेस की महिला विंग की चीफ शुष्मीता देव ने दावा किया है कि अगर 2019 चुनाव के बाद केंद्र में कांग्रेस की सरकार आती है तो हम ट्रीपल कानून को खत्म कर देंगे। जबकि कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ओर हाल ही में हुए उपचुनाव में अपनी सीट गवाने वाले नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि लोग महिला कांग्रेस चीफ के द्वारा दिये गए बयान को समाज नही पाये और इस पर पार्टी ने इस कानून पर सुप्रीम कोर्ट में निर्णय आने से पहले ही अपना स्टैंड क्लियर कर दिया था कि हम इसका विरोध करते है। ट्रीपल तलाक़ की जगह हमारी इस आधुनिक सोसाइटी में नही है । हमने कहा था कि अगर पति को जेल में भेज दिया जाएगा तो परिवार का खर्च कौन उठाएगा। समाज और संसद को यह निर्णय लेना होगा। हम इसके खिलाफ एक मजबूत फैसला चाहते है जो कि परिवार को भी ध्यान में रखकर लिया जाए।
‌जबकि कांग्रेस की महिला विंग की चीफ देव ने माइनॉरिटी डिपार्टमेंट कंवेक्शन को संबोधित करते हुए कहा कि ट्रीपल तलाक़ के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को मुस्लिम पुरुषों के खिलाफ भड़काने का काम किया है और हमारी पार्टी इस कानून को निरस्त कर देगी अगर हम सत्ता में आते है तो।
‌बहुत लोगो ने हमसे कहा कि मुस्लिम महिलाएं ससक्त होंगी अगर ट्रीपल तलाक़ बील पास हो जाता है तो लेकिन हम इस कानून का विरोध करते है क्योंकि यह नरेंद्र मोदी की साजिश है जिसके तहत एह मुस्लिम पुरुषो को जेल में डालना चाहते हैं।
‌”कांग्रेस पार्टी उस वक़्त भी इसके खिलाफ थी जब यह कानून संसद में पारित किया जा रहा था । मै वादा करती हूं कि अगर कांग्रेस 2019 में सत्ता में आती है तो इस कानून को पूरी तरह से निरस्त कर देगी। साथ ही साथ हम ये भी वादा करते है कि इसके अलावा महिलाओ के लिए जो भी कानून किसी भी सरकार के द्वारा लाया जाएगा हम उसका समर्थन करेंगे “।
‌बीजेपी ने यह कहते हुए कांग्रेस महिला चीफ का विरोध किया है कि देश की जनता इसके लिए कांग्रेस की तुक्ष मानसिकता को माफ नही करेगी । कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है। सेथ ही साथ इस से यह भी ज़ाहिर होता है कि राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का कितना सम्मान करते है । बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा “यह किस तरह की मानसिकता है “? यह सिर्फ और सिर्फ तुष्टीकरण है, देश की जनता देख रही है ना सिर्फ मुस्लिम महिलाएं बल्कि देश की जनता इस तरह की तुक्ष मानसिकता के लिए कांग्रेस को माफ नही करेगी । राहुल गांधी और उनकी पार्टी को देखो, ये तुष्टिकरण के लिए कह रहे है कि अगर हम सत्ता में आते है तो कानून तोड़ देगे हमे सुप्रीम कोर्ट के निर्देश की कोई परवाह नही
‌सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच ने ट्रीपल तलाक़ को यह कहते हुए बैन कर दिया था कि यह संविधान के खिलाफ है ।
‌कानून के मुताबिक एक बार मे तीन तलाक़ देने वाले को 3 साल की जेल की सजा काटनी होगी। ट्रीपल तलाक बिल लोकसभा में पास हो चुका है।
‌”इस लोकतांत्रिक देश मुस्लिम महिलाओं को भी खुलकर जीने का हक है वह भी जीवन का नेतृत्व कर सकती है दुसरो की तरह । यही कारण है कि सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने इस कानून को मंजूरी दी।”
‌सेंट्रल गवर्मेंट का मानना है कि ट्रीपल तलाक़ के नाम पर महिलाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा था व्हाट्सएप्प के जरिए तलाक़ दिए रहे थे, जो कि सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक असंवैधानिक है।
‌विपक्ष का मानना है कि यह संविधान के विरुद्ध है ।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *